Best shayari

तू जहां रहे खुश रहे और रहे आबाद तुझे क्या फर्क पड़ता है ए बेवफा अगर तेरे लिए हुआ है कोई बर्बाद

कहती थी बेवफा तू है मेरी और मैं हूं तेरी भूल गई मुझे और सब कुछ मेरा कहती है क्या औकात और क्या स्टेटस है तेरा
टूटा है दिल फिर भी मुस्कुरा रहा हूं मैं जीना है कैसे इस दुनिया को सिखा रहा हूं मैं

कैसा है यह वक्ता और कैसा यह दौर है कल तक था मैं जान उसकी आज मेरी जगह कोई और है

वक्त वक्त की बात है कल थी मेरे साथ आज वो किसी और के साथ हैं बेवफा

Home Ads

Responsive Ads Here

Prisma Theory

6/Prisma Theory/featured

Life Style

6/recent/featured

Bewafa shayari

https://statusshayari07.blogspot.com/2023/04/memory-of-bewafa-bewafa-status-2023.html