रफ्तार दोगुनी हो जाती है जब जिंदगी दांव पर लगती है


                रफ्तार दोगुनी हो जाती है 
                जब जिंदगी दांव पर लगती है

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ